BREAKING NEWS
स्कूल के समय में नहीं होगा बदलाव!, शिक्षा विभाग ने पोस्ट कर बता दिए नियम एंबुलेंस से हो रही थी ब्रांडेड शराब की तस्करी, उत्पाद विभाग की टीम डिजाइन को देख हैरान चुनाव बहिष्कार करने वाले सहरौन गांव के निर्दोष ग्रामीणों पर मुकदमा एवं गिरफ्तारी करने की समाजसेवियों... तीन दिन से लापता युवक की गंगा नदी से मिली लाश, प्रोपर्टी डीलर पर आरोप समस्तीपुर में गंगा नदी में डूबे असम राइफल्स के जवान का शव 16 घंटे बाद मिला, परिवार को दी गई सूचना ‘जब तक जिंदा हूं धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं करने देंगे’, मुजफ्फरपुर में बोले पीएम मोदी गया में वज्रपात से महिला समेत चार लोगों की मौत, आधा दर्जन बकरियां भी आईं चपेट में; परिजनों में कोहरा... सीएम नीतीश कुमार की तबीयत इतनी खराब है? लोकसभा चुनाव से ज्यादा इस सवाल पर लोग चिंतित गोपालगंज में प्रेमी जोड़े पर जानलेवा हमला; प्रेमिका की मौके पर मौत, युवक की हालत नाजुक नवादा में टीसी न मिलने से गुस्साए छात्रों ने स्कूल में जड़ा ताला; BEO ने पूर्व प्रभारी को किया निलंब... ढूंढा तो जहर खा लूंगी, तीन महीने भक्ति करने के लिए जा रही हूं, ऐसा लिखकर तीन सहेलियां घर से गायब बेगूसराय के बड़े स्कूल के परिसर में फेंका बम, खिड़की के पास फटा; क्यों और क्या हुआ, जानें कई दिनों से लापता मासूम का मिला शव, अगवा कर हत्या की जताई गई आशंका; पुलिस जांच में जुटी 50 हजार का इनामी कुख्यात गिरफ्तार, पुलिस की आंख में धूल झोंककर काट रहा था फरारी; अब सलाखों के पीछे दो दिन से लापता किशोर का तालाब में मिला शव, भाई ने कहा- मोहित के साथ हुई अप्रिय घटना; पुलिस करे जांच फांसी का फंदा लगाकर किशोरी ने की आत्महत्या, पारिवारिक विवाद के चलते उठाया कदम; पुलिस जांच में जुटी 7 महीने बाद प्रिंसिपल हत्याकांड से उठा पर्दा, 8 लाख के विवाद में हुई थी हत्या; ढाई लाख की दी गई सुपा... रेल पुलिस ने 67 लाख 28 हजार रुपए के साथ एक शख्स को किया गिरफ्तार, जांच में जुटी पुलिस शाहनवाज हुसैन तेजस्वी यादव पर बरसे, क्यों कहा- ..लालू जी का अपमान करने लगते हैं जांघ में थी परेशानी, चली गई जान; डॉक्टर के बगैर खून-स्लाइन चढ़ाने का आरोप, परिजनों ने काटा बवाल
केटेगरी :
पटनाशिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में मास्टर माइंड सहित पांच...

शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में मास्टर माइंड सहित पांच आरोपी गिरफ्तार

पटना : बीपीएससी शिक्षक भर्ती परीक्षा के तीसरे चरण TRE-3.0 के पेपर लीक मामले में आर्थिक अपराधी इकाई ने मामले के मास्टरमाइंड सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आर्थिक अपराध इकाई ने यह गिरफ्तारी मध्य प्रदेश के उज्जैन जिला से किया है। गिरफ्तार आरोपियों में मास्टरमाइंड डॉक्टर शिवकुमार उर्फ शिव उर्फ बिट्टू सहित बल्ली उर्फ संदीप कुमार, प्रदीप कुमार, तेज प्रकाश और सौम्या कुमारी भी शामिल है।

बिहार सहित अन्य राज्यों में भी करते हैं पेपर लीक कांड

इस मामले में आर्थिक अपराधी इकाई का कहना है कि इस पूरे मामले में घटना का मास्टरमाइंड डॉक्टर शिवकुमार उर्फ शिव उर्फ बिट्टू के गिरोह के द्वारा प्रश्न पत्र लिखकर कांड को अंजाम दिया गया है। ईओयू का कहना है कि डॉ शिव पूर्व में भी 2017 में NEET UG के परीक्षा पत्र लीक कांड का अभियुक्त रहा है। इस मामले में पत्रकार नगर थाना में कांड संख्या 224/17 के तहत 7 मई 2017 को उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में उसके साथ उसका सहयोगी शुभम मंडल उर्फ शिवम मंडल भी था। शुभम मंडल उर्फ शिवम मंडल खगौल थाना क्षेत्र के अफसर कॉलोनी निवासी सुशील मंडल का पुत्र है। यह दोनों मिलकर कई महत्वपूर्ण सरकारी संस्थाओं की प्रतियोगिता परीक्षाओं में प्रश्न पत्र लीक/ फर्जीवाड़ा के कांडों को अंजाम देते थे। इसी वर्ष उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा के प्रश्न पत्र लीक काण्ड में इन दोनों की संलिप्त सामने आई है। इस अंतरराज्यीय  गिरोह के तार उत्तर प्रदेश, झारखंड, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल और बिहार सहित अन्य कई राज्यों से जुड़े हुए हैं।

ऐसे होता है प्रश्नपत्र लीक का खेल 

पूछताछ के दौरान इन्होंने बताया कि ये लोग कई वर्षों से प्रश्न पत्र लीक करने के धंधे में लगे हुए हैं, जिससे इनको मोटी कमाई होती है। येलोग लगातार इस टोह में लगे रहते हैं कि किस राज्य के किस प्रिंटिंग प्रेस में प्रश्नपत्र छप रहा है। फिर उन प्रश्नपत्रों का ट्रांसपोर्टेशन किस प्रकार किया जाता है। यह सब जानकारी हासिल करने के बाद ये माफिया  वहां के कर्मचारियों से मोटी राशि पर सौदा कर प्रश्न पत्र प्राप्त करते हैं। प्रश्नपत्र मिलने के बाद वह अभ्यर्थियों को परीक्षा से पूर्ण निर्धारित स्थानों जैसे होटल रेस्टोरेंट आदि जगहों पर बुलाकर उन सवालों क उत्तर याद करवाते हैं और फिर उन्हें अपनी ही निगरानी में सीधे परीक्षा केंद्र तक पहुंचाते हैं।

 प्रश्नपत्र लीक की पहली कड़ी 

बीपीएससी 3.0 की परीक्षा में उन्हें पता चल गया था कि प्रश्न पत्र के ट्रांसपोर्टेशन का कार्य डीटीडीसी कोरियर कंपनी द्वारा किया जाना है, जिनमें कुछ गाड़ियां एक प्राइवेट व्यक्ति श्री निवास चौधरी से भी हायर किया जाना है। श्रीनिवास चौधरी अक्सर कई कंपनियों को अपनी गाड़ियां उपलब्ध करवाते हैं। यह जानकारी मिलते ही

इसे भी पढ़ें :
BPSC TRE Result : शिक्षक भर्ती परीक्षा का मार्कशीट जारी, यहां चेक करें अपना अंक; कट ऑफ का यह कंफ्यूजन भी दूर

तत्काल इन्होंने पटना के बायपास थाना क्षेत्र के मिर्चामिर्ची मोहल्ला निवासी राहुल पासवान को मोटी रकम का लालच देकर अपने पक्ष में कर लिया। राहुल पासवान

स्थित जेनिथ लोजिस्टिक्स प्राइवेट लिमिटेड कोरियर कंपनी में मुंशी का काम करता था।

फ़िल्मी स्टाइल में हुआ काम 

12 मार्च को राहुल पासवान ने श्रीनिवास चौधरी को अपने साथ मिलकर पटना से नवादा ले जाने के क्रम में पेटी से निकालकर उन्हें स्कैन करने की योजना बना ली। जैसे ही डीटीडीसी पटना से श्रीनिवास चौधरी के वाहनों पर प्रश्न पत्र की पेटियां लोड होने के बाद निकली, श्रीनिवास और राहुल ने मिलकर गाड़ी के चालक राम भवन पासवान को भी मोटे रकम का लालच देकर अपने में मिला लिया। फिर जैसे ही नियत समय पर गाड़ी बुद्धा फैमिली रेस्टोरेंट नगरनौसी पहुंची, चालक ने योजना के अनुसार रेस्टोरेंट में गाड़ी खड़ी कर दी। फिर वहां पूर्व के योजना के अनुसार पूर्व से ही डॉक्टर शिव और उसके पिता संजीव कुमार उर्फ़ संजीव मुखिया एवं उनके गिरोह के कई सदस्य पहले से वहां मौजूद थे। इस खेल में एक और किरदार होटल मालिक अवधेश कुमार था जिसकी जानकारी में प्रश्न पत्र की पेटी को स्पेशलाइज्ड टूल्स के माध्यम से खोलकर प्रश्न पत्र को स्कैन कर लिया गया। विशेष टीम ने इस गिरोह के कुछ स्पेशलाइज्ड टूल्स भी जप्त किए हैं।

अभ्यर्थियों तक ऐसे पहुंचाया गया प्रश्नपत्र 

गिरोह को प्रश्न पत्र प्राप्त होते ही विभिन्न माध्यमों से गिरोह के अन्य सदस्यों के पास प्रश्नपत्र पहुंचा दिया गया, जिसे वह पूर्व से तय राशि 10 लाख से 12 लाख रुपए प्रति अभ्यर्थी पर हजारीबाग के कोहिनूर बैंक्विट हॉल में सैकड़ों अभ्यर्थियों को प्रश्नों के उत्तर याद करवा दिए गए।

अब ये हैं आर्थिक अपराधी इकाई की गिरफ्त में 

टीम ने कई जिलों में निरंतर छापेमारी करने के बाद जेनिथ लोजिस्टिक्स प्राइवेट लिमिटेड कोरियर कंपनी के दो मुंशियों राहुल पासवान और रमेश पासवान, उसके ड्राइवर राम भवन पासवान, एवं शिवाकांत सिंह, डीटीडीसी कोरियर कंपनी के वेंडर श्रीनिवास चौधरी, बुद्धा फैमिली रेस्टोरेंट के मालिक अवधेश कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। इस गिरोह के पास से कुछ पेन ड्राइव भी बरामद हुए जिसमें ट्रांसपोर्टिंग लॉजिस्टिक कंपनी के गोपनीय डाटा भी पाए गये हैं।

सोर्स लिन्क

सम्बन्धित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेखक की अन्य खबरें