BREAKING NEWS
स्कूल के समय में नहीं होगा बदलाव!, शिक्षा विभाग ने पोस्ट कर बता दिए नियम एंबुलेंस से हो रही थी ब्रांडेड शराब की तस्करी, उत्पाद विभाग की टीम डिजाइन को देख हैरान चुनाव बहिष्कार करने वाले सहरौन गांव के निर्दोष ग्रामीणों पर मुकदमा एवं गिरफ्तारी करने की समाजसेवियों... तीन दिन से लापता युवक की गंगा नदी से मिली लाश, प्रोपर्टी डीलर पर आरोप समस्तीपुर में गंगा नदी में डूबे असम राइफल्स के जवान का शव 16 घंटे बाद मिला, परिवार को दी गई सूचना ‘जब तक जिंदा हूं धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं करने देंगे’, मुजफ्फरपुर में बोले पीएम मोदी गया में वज्रपात से महिला समेत चार लोगों की मौत, आधा दर्जन बकरियां भी आईं चपेट में; परिजनों में कोहरा... सीएम नीतीश कुमार की तबीयत इतनी खराब है? लोकसभा चुनाव से ज्यादा इस सवाल पर लोग चिंतित गोपालगंज में प्रेमी जोड़े पर जानलेवा हमला; प्रेमिका की मौके पर मौत, युवक की हालत नाजुक नवादा में टीसी न मिलने से गुस्साए छात्रों ने स्कूल में जड़ा ताला; BEO ने पूर्व प्रभारी को किया निलंब... ढूंढा तो जहर खा लूंगी, तीन महीने भक्ति करने के लिए जा रही हूं, ऐसा लिखकर तीन सहेलियां घर से गायब बेगूसराय के बड़े स्कूल के परिसर में फेंका बम, खिड़की के पास फटा; क्यों और क्या हुआ, जानें कई दिनों से लापता मासूम का मिला शव, अगवा कर हत्या की जताई गई आशंका; पुलिस जांच में जुटी 50 हजार का इनामी कुख्यात गिरफ्तार, पुलिस की आंख में धूल झोंककर काट रहा था फरारी; अब सलाखों के पीछे दो दिन से लापता किशोर का तालाब में मिला शव, भाई ने कहा- मोहित के साथ हुई अप्रिय घटना; पुलिस करे जांच फांसी का फंदा लगाकर किशोरी ने की आत्महत्या, पारिवारिक विवाद के चलते उठाया कदम; पुलिस जांच में जुटी 7 महीने बाद प्रिंसिपल हत्याकांड से उठा पर्दा, 8 लाख के विवाद में हुई थी हत्या; ढाई लाख की दी गई सुपा... रेल पुलिस ने 67 लाख 28 हजार रुपए के साथ एक शख्स को किया गिरफ्तार, जांच में जुटी पुलिस शाहनवाज हुसैन तेजस्वी यादव पर बरसे, क्यों कहा- ..लालू जी का अपमान करने लगते हैं जांघ में थी परेशानी, चली गई जान; डॉक्टर के बगैर खून-स्लाइन चढ़ाने का आरोप, परिजनों ने काटा बवाल
मौसम पूर्वानुमान2019 की तरह पटना को फिर डुबाएगा अफसरों का झूठ, 48 घंटे...

2019 की तरह पटना को फिर डुबाएगा अफसरों का झूठ, 48 घंटे पहले निगम ने कहा- नाला क्लीन, CM ने क्रास चेक कर उड़ाया होश

मौसम पूर्वानुमान : मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि इस बार मानसून पहले आएगा और बिहार में अनुमान से अधिक बारिश होगी।2019 में बिहार की राजधानी का नजारा पूरा देश देखा। बाढ़ नहीं थी लेकिन हालात बाढ़ से भी बदतर रहे। राजधानी का शायद ही ऐसा कोई इलाका रहा हो जहां सड़कों पर नाव न चली हो। निगम के अफसरों की मनमानी से बने ऐसे हालात फिर बन रहे हैं। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि इस बार मानसून पहले आएगा और बिहार में अनुमान से अधिक बारिश होगी। तैयारी का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि 48 घंटे पहले जिम्मेदारों ने नालों के क्लीन होने का दावा किया लेकिन CM की क्रॉस चेकिंग में पोल खुल गई। अब मई तक नालों की सफाई का अल्टीमेटम है।

निगम के अफसरों का यह है दावा

पटना नगर निगम के अफसरों ने दावा किया कि मानसून पूर्व बड़े नालों की उड़ाही हो चुकी है। मेनहॉल एवं कैचपिट की सफाई के अंतिम चरण का दावा किया गया। दावा यह भी किया जा रहा है कि दिन और रात में सफाई की जा रही है। मानसून से निपटने के लिए पटना नगर निगम की तैयारी का दावा करने वाले निगम के अफसरों का कहना है कि पटना नगर निगम द्वारा सभी बड़े नालों की उड़ाई कर ली गई है। नगर आयुक्त के निर्देश पर नाला उड़ाही में लगे सभी पदाधिकारी ये शपथ पत्र देंगे कि उनके क्षेत्र का नाला साफ हो चुका है। दावा किया जा रहा है कि पूरे मानसून में क्षेत्र के नाला उनके ही जिम्मे होंगे। अफसर सफाई को लेकर पूरे दावे कर रहे हैं।

तैयारी का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि 48 घंटे पहले जिम्मेदारों ने नालों को क्लीन होने का दावा किया लेकिन CM की क्रॉस चेकिंग में पोल खुल गई।

अफसरों के दावों के बाद CM ने जानी हकीकत

नगर निगम के अफसरों के दावे के बाद ही क्रॉस चेकिंग में CM नीतीश कुमार पड़ताल में निकल गए। नीतीश कुमार ने कहा कि 2019 में जो हाल हुआ, वैसा हाल दाेबारा नहीं हो। वह इसी पड़ताल में संप हाउस से लेकर पूरी पड़ताल करने निकले थे। सीएम की क्रॉस चेकिंग में पता चला कि अभी सफाई पर और काम करने की ज़रुरत है। हालांकि सीएम ने पटना को जल जमाव से बचाने को लेकर की जा रही तैयारियों से पूरी तरह से संतुष्ट नहीं दिखे। सफाई को लेकर उन्होंने जिम्मेदारों को निर्देश भी दिया है।

इसे भी पढ़ें :
बिहार में 15 जून तक आ आएगा मानसून, हिंद महासागर की गर्मी का दिखेगा असर, इस बार सामान्य से अधिक बारिश

भास्कर की पड़ताल में सामने आया सच

नालों की सफाई के दावे और सीएम की क्रास चेकिंग के बीच जब भास्कर ने पड़ताल की तो बड़ा खुलासा हुआ। नालों की सफाई तो की गई है, लेकिन यह महज उपरी सफाई है। नालों में कचरा भरा पड़ा है, लेकिन उसे साफ नहीं कराया गया। नाला पूरी तरह से भरा है, गहराई में साफ करने का कोई प्रयास नहीं किया गया है। अफसरों ने नालों की हकीकत भी देखने का प्रयास नहीं किया और दावे पर दावे किए गए। सबसे बड़ा राजीव नगर नाला है, यहां नालों की गहराई का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि थोड़ी सी बरसात में पानी ओवर फ्लो हो जाएगा। इसके पीछे बड़ा कारण है कि उपर से तो सफाई कर ली गई है लेकिन नीचे कचरा पटा है। इससे पानी नाला के बराबर ही है। अगर इस पर काम नहीं किया गया और मानसून ठीक ठाक रहा और बारिश 2019 की तरह हुई तो पटना में वहीं हाल होगा। क्योंकि 2019 में भी अफसरों की दावा की ऐसी ही सफाई से पटना में जल जमाव हुआ था।

नाला जो बनते हें पटना के लिए खतरा

  • सैदपुर नाला (अजीमाबाद क्षेत्र) 3500 मीटर
  • सैदपुर नाला (बांकीपुर क्षेत्र) 2400 मीटर
  • आनंदपुरी नाला 3050 मीटर
  • कुर्जी नाला/ राजीव नगर नाला 54 80 मीटर
  • मंदिरी नाला 1250 मीटर
  • मोहनपुर नाला मध्य 980 मीटर
  • बोरिंग कैनाल रोड भूगर्भ नाला (मध्य नाला) 1040 मीटर
  • नेहरू नगर भूगर्भ नाला 556 मीटर
  • सरपेंटाइन आला 6039 मीटर
  • बाकरगंज नाला 1454 मीटर
  • बाईपास नाला (नूतन राजधानी क्षेत्र )2975 मीटर
  • बाईपास नाला (कंकड़बाग क्षेत्र) 4300 मीटर
  • योगीपुर नारा 4050 मीटर
  • सिटी मोट नाला 1560 मीटर

© दैनिक भास्कर

सम्बन्धित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेखक की अन्य खबरें